About us

शायराना जिंदगी में
मैं मंजू तिवारी
आप सब का स्वागत करती हुं।

thanks for visiting the blog...
keep visiting & keep supporting...

Feel free to contact...

email- tiwari.manju93@gmail.com
.................

कभी पत्थर बना के, कभी मोम बना के
जब जैसा चाहा,नचाया ये जिंदगी
मैंने भी अपना रुख बदल के,
शायराना जिंदगी बना के
शायरी से सजा दी जिंदगी।

2 comments

नज़र बचा के गुज़र जाएँ मुझ से वो लेकिन
मेरे ख़याल से दामन बचा नहीं सकते

गलत ख्याल...


EmoticonEmoticon